About Contact Privacy Policy
IMG-LOGO
Home ताजाखबर प्रदेश वर्ष में ढ़ाई लाख मीटरों की हो सकती है अत्याधुनिक तरीके से टेस्टिंग
ताजाखबर

वर्ष में ढ़ाई लाख मीटरों की हो सकती है अत्याधुनिक तरीके से टेस्टिंग

by Akhbar Jagat , Publish date - Jul 03, 2022 08:54AM IST
वर्ष में ढ़ाई लाख मीटरों की हो सकती है अत्याधुनिक तरीके से टेस्टिंग

इंदौर जगत ।। देश की परीक्षण एवं प्रयोगशाला को राष्ट्रीय स्तर की मान्यता देने वाली एकमात्र संस्था नेशनल एक्रेडिएशन बोर्ड फार टेस्टिंग एंड कॉलिब्रेशन लेबोरेटरज(एनएबीएल) से इंदौर के पोलो ग्राउंड स्थित मीटर टेस्ट लेब को सर्टिफिकेट मिल गया है। मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी यह तीसरी टेस्टिंग लेब है, जिसे अभा स्तर की मान्यता मिली है। मप्रपक्षेविविकं इंदौर के प्रबंध निदेशक अमित तोमर ने बताया कि इंदौर पोलोग्राउंड स्थित ट्रांसफार्मर, केबल, कंडक्टर की टेस्टिंग करने वाली लेब को पिछले वर्ष एनएबीएल सर्टिफिकेट मिला था। इसके बाद उज्जैन स्थित रीजनल मीटर टेस्टिंग की अत्याधुनिक लेब को भी एनएबीएल मिला है। तोमर ने बताया कि इंदौर और उज्जैन की दोनों लेब में बिजली के महत्वपूर्ण उपकरणों की अत्याधुनिक तरीके से टेस्टिंग हो रही है। दोनों ही लेब को आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत निर्मित किया गया। तोमर ने बताया कि इंदौर के पोलोग्राउंड स्थित रीजनल मीटर टेस्टिंग की अत्याधुनिक लेब को भी एनएबीएल दर्जा शुक्रवार को मिल चुका है। इंदौर की अत्याधुनिक मीटर टेस्टिंग लेब को भी एनएबीएल स्तर की बनाने की एक वर्ष से तैयारी की गई थी । इस पर सिविल कार्य सहित 3 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। यह लेब वर्ष में ढाई लाख से ज्यादा मीटरों की सबसे अत्याधुनिक तरीके से टेस्टिंग कर सकती है।

Tags:
Share:
Facebook Twitter Whatsapp

Related News