About Contact Privacy Policy
IMG-LOGO
Home खेल क्रिकेट धोनी के रिटायरमेंट से मायूस इंजमाम बोले- उनके जैसे बड़े कद के खिलाड़ी को घर से नहीं, बल्कि मैदान से ऐलान करना था
खेल

धोनी के रिटायरमेंट से मायूस इंजमाम बोले- उनके जैसे बड़े कद के खिलाड़ी को घर से नहीं, बल्कि मैदान से ऐलान करना था

by Akhbar Jagat , Publish date - Aug 17, 2020 02:19PM IST
धोनी के रिटायरमेंट से मायूस इंजमाम बोले- उनके जैसे बड़े कद के खिलाड़ी को घर से नहीं, बल्कि मैदान से ऐलान करना था

अख़बार जगत। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम-उल-हक भी महेंद्र सिंह धोनी के इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने के फैसले से मायूस हैं। उनका मानना है कि धोनी जैसे बड़े कद के खिलाड़ी को घर से नहीं, बल्कि मैदान से रिटायरमेंट का ऐलान करना चाहिए था। इंजमाम ने अपने यू-ट्यूब चैनल पर पोस्ट किए वीडियो में यह बातें कहीं। इंजमाम ने कहा कि मैंने एक बार सचिन तेंदुलकर को भी यही सलाह दी थी कि जब आपके इतनी बड़ी फैन फॉलोइंग है, तो आपको मैदान से अपने क्रिकेट सफर को खत्म करना चाहिए। क्योंकि यहीं से आपने इज्जत और स्टारडम हासिल किया है। धोनी को भी ऐसा ही करना चाहिए था। इससे उनके फैंस और मुझे भी बहुत खुशी होती।

धोनी भारत के सबसे बेस्ट कप्तान: इंजमाम

इस पूर्व पाकिस्तानी कप्तान ने धोनी को भारतीय क्रिकेट का सबसे बेस्ट कप्तान ठहराते हुए कहा कि उन्होंने युवा खिलाड़ियों को तराशा। उनकी कप्तानी में ही आर अश्विन और सुरेश रैना जैसे मैच विनिंग खिलाड़ी टीम इंडिया को मिले। उन्होंने कहा कि एमएस धोनी में खेल की गहरी समझ थी और वे युवा खिलाड़ियों को बड़े प्लेयर्स में तब्दील करने में माहिर थे। इंजमाम के मुताबिक, धोनी ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें यह पता होता था कि मैच कैसे खत्म करना है। वे हर मैच में शतक नहीं लगाते थे, लेकिन वे इस तरह वे पारी बनाते थे, ताकि टीम को जीत मिले।

धोनी ने 15 अगस्त को रिटायरमेंट की घोषणा की

धोनी ने 15 अगस्त की शाम को इंस्टाग्राम पर अपनी तस्वीरों में बुनी गजल ‘मैं पल दो पल का शायर हूं’ का वीडियो पोस्ट कर रिटायरमेंट का ऐलान किया। उन्होंने लिखा- आप लोगों की तरफ से हमेशा मिले प्यार और सपोर्ट के लिए शुक्रिया। आज शाम 7 बजकर 29 मिनट के बाद से मुझे रिटायर ही समझें।

धोनी ने भारत को टी-20 और वनडे का वर्ल्ड चैम्पियन बनाया

धोनी ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच पिछले साल वर्ल्ड कप में खेला था। तब टीम सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हार गई थी। उस मैच में धोनी ने अर्धशतक लगाया था। वे भारत के सबसे कामयाब कप्तान रहे हैं। उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने 2007 में टी-20 और 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीता था। दो साल बाद चैम्पियंस ट्रॉफी का खिताब जीतकर वे आईसीसी की तीन ट्रॉफी जीतने वाले दुनिया के पहले कप्तान बने थे।

Tags:
Share:
Facebook Twitter Whatsapp

Related News